बुधवार, 13 मार्च 2013

पीएचडी, दारूबाजी पर .....

हाल ही  में  इन्टरनेट पर एक शानदार पोस्ट देखी थी, सोचा चलो अपने ब्लॉग  में चिपकाकर  अपने दोस्तो  का ज्ञानवर्धन एवं मनोंरंजन  कर दें. वेसे जीवन का पहला ब्लॉग हे  तो सुरूआत  भी हंशी और दारू जैसी शुभ औषधी  के  साथ हो कलेज़े को कुछ ठण्डक पड़ेगी . यह लेख उन दारूबाजों को समर्पित है जिन्होंने अपनी पूरी  जिंदगी दारु को समर्पित कर रखी है. ऐसा अक्सर देखा जाता है कि लोग दो तीन पैग पीने के बाद अजीब अजीब से हरकतें करने लगते है, ये लोग उन दारूबाजों कि तरफ से लिखा गया है, जो ज्यादा पीने के बाद महसूस करते है. दारूबाजों से निवेदन है कि बोतल खोलने  के पहले इस लेख को पढ़े, क्योंकि पीने के बाद तो शायद दुसरे पढकर आपका उपचार करें.
तो फिर शुरू करें?

1) लक्षण : यदि आपको लगे कि आपके पैर ठन्डे और गीले हो रहे है.
कारण : आपने अपने गिलास को ढंग से नहीं पकड़ रखा है, (आप दारू को गिलास के पिछले हिस्से में उढ़ेल रहे है, जो आपके पैर पर गिर रही है)
उपचार : गिलास को धीरे से उलटिए, ताकि उसकी गहरे में आप झांक सके, अब फिर से उसमे दारु उडेलना शुरू करिये. अबकी सीधे से डालियेगा.

2) लक्षण : आपको  आँखों के सामने ढेर सारी रौशनी दिखाई पड़ रही है.
कारण : आप फर्श पर गिरे पड़े है.
उपचार : अपने शरीर को 90 डिग्री में घुमाइए , क्या कहा 90 डिग्री क्या होता  है ? देखा गणित से नफरत करने का क्या नतीजा होता है,? अपने एक हाथ को फर्श पर लगाइए और उठ खड़े होइए, 90 के फेर में मत अटकिये.

3) लक्षण : आपको सब कुछ धुंदला धुंदला दिखाई दे रहा है.
कारण : आप खाली गिलास के आर पार देख रहे है.
उपचार : अब देखना वेखना छोडिये और गिलास (सीधा करके) दारु डालिए.

4) लक्षण : पूरा फर्श हिल रहा है.
कारण : कोई भूकम्प वगैरह नहीं आया है, आप फर्श पर घसीटे जा रहे है.
उपचार : आपने आपको संयत करने की कोशिश करिये, और कम से कम उनसे पूछिए तो कि  भई कहाँ ले जा रहे हो? वहाँ दारु का इंतज़ाम है कि नहीं?

5) लक्षण : आपको सभी लोगो की आवाज गूंजती गूंजती सुने पड़ रही है.
कारण : नहीं भई, आप पहाडो पर नहीं हो, आपने अपना खाली गिलास कान में लगा रखा है.
उपचार : अब गिलास से टेलीफोन टेलीफोन खेलना छोडिये, गिलास भरिये और अगला पैग बनाइये.

6) लक्षण : आपको अपने परिवार के लोगों की  शक्लें अजीब अजीब सी लग रही है.
कारण : आप गलत घर में घुस आये हैं,
उपचार : इस से पहले कि वो आपको पीटें, दोनों हाथ जोड़कर उनको निवेदन करें कि वो आपको आपके घर तक छोड़कर आयें.

7) लक्षण : एक अजीब से महिला, जानी पहचानी आवाज में चिल्ला चिल्ला कर कुछ बेफिजूल सा कहने कि कोशिश कर रही है.
कारण : आप अपने ही घर में अपनी बीबी के सामने खड़े है. यदि महिला आपको पीने के बाद अजीब लग रही है, तो ये आपकी शादी के फैसले की जल्दबाजी का ही नतीजा है.
उपचार : “डार्लिंग, अब से तौबा, आगे से नहीं” टाइप के डायलोग (निवेदन भरे, मधुर स्वर में) पेश करिये. पत्नी जी, अपनी ऊर्जा खत्म होते ही, आपको आपके हाल पर छोड़ कर, पैर पटकती हुई चली जायेंगी.

8) लक्षण : वातावरण में अजीब सी गंध है, लेकिन कोई आपको बहुत प्यार कर रहा है.
कारण : आप नाली में गिरे पड़े है और सुवर/कुत्ता आपके मुंह को चाट रहा है.
उपचार : सुवर/कुत्ते को दूर हटाइए, नाले से उठने  की ( वैसे ही 90 डिग्री वाली )  कोशिश करिये

9) लक्षण : पूरा कमरा थरथरा रहा है, सभी लोग अजीब सी सफ़ेद पोशाक में है.
कारण : आप एम्बुलेंस में है.
उपचार : कुछ मत करिये, यूं ही पड़े रहिये, जो करना है डॉक्टर को करने दें.
10) लक्षण : सभी लोग उलटे उलटे (सर के बल चलते हुए)  दिखाई दे रहे है और सारे लोग अजीब सी खाकी पोशाक में है.
कारण : आप पुलिस थाने में है, और आपको उल्टा लटकाया गया है.
उपचार : उनसे पूछिए कि भई, हंगामा है क्यों बरपा थोड़ी सी जो पी ली है.

तो फिर आप लोग अपनी राय देना मत भूलिएगा, कोई और प्वाइंट रह गया हो तो जरूर बताइयेगा.

2 टिप्‍पणियां:

  1. Hi it' really nice,Saurabh you have amazing thinking.

    I will wait for your next blog.Please keep it up.

    parvendra

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. पर्व , बेशक जल्दी ही सेवा की जाएगी

      हटाएं